Type Here to Get Search Results !

Bottom Ad

इंटरनेट का आविष्कार कब हुआ था ?

इंटरनेट नहीं हमारी जिंदगी को पूरी तरह से चेंज करके रख दिया है ! टाइम ऐसा आ गया है, कि इंटरनेट के बिना आज हम अपनी जिंदगी कल्पना भी नहीं कर सकते ! लेकिन क्या आपको पता है, कि इंटरनेट का आविष्कार कैसे हुआ था और किसने किया था ? इंटरनेट का आविष्कार कैसे हुआ और किसने किया था, तो आइए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से !








इंटरनेट क्या है और इसकी विशेषताएं ?


इंटरनेट एक विशाल नेटवर्क है जो पूरी दुनिया में कंप्यूटर को जोड़ता है। इंटरनेट के माध्यम से, लोग इंटरनेट कनेक्शन के साथ कहीं से भी जानकारी साझा और संवाद कर सकते हैं !


इंटरनेट  इंटरकनेक्टेड {परस्पर जुड़ा हुआ }कंप्यूटर नेटवर्क की वैश्विक प्रणाली है ! जो नेटवर्क और उपकरणों के बीच संचार करने के लिए इंटरनेट प्रोटोकॉल सूट (टीसीपी / आईपी) का उपयोग करता है। यह उन नेटवर्कों का एक नेटवर्क है, जो इलेक्ट्रॉनिक, वायरलेस और ऑप्टिकल नेटवर्किंग तकनीकों को  एक बिस्तार श्रृंखला से जुड़ता है ! जो स्थानीय, वैश्विक दायरे में निजी, सार्वजनिक, शैक्षणिक, व्यवसाय और सरकारी नेटवर्क से युक्त है। इंटरनेट सूचना संसाधनों और सेवाओं की एक विशाल श्रृंखला को वहन करता है, जैसे कि इंटर-लिंक किए गए हाइपरटेक्स्ट दस्तावेज़ और वर्ल्ड वाइड वेब (www ), इलेक्ट्रॉनिक मेल, टेलीफोनी और फ़ाइल साझाकरण के अनुप्रयोग है।


इंटरनेट का आविष्कार कब हुआ था ?


इंटरनेट का आविष्कार किसी एक समय में किसी एक इंसान के द्वारा नहीं हुआ था ! इसका आविष्कार और विकास पीढ़ी दर पीढ़ी हुआ ! इसके अविष्कार और विकास में कई वैज्ञानिकों का समय और योगदान रहा है ! इसकी शुरुआत सन 1962 में अमेरिका में जे सी आर क्लिकर के द्वारा हुई थी ! 


सन 1960 के दशक में रूस और अमेरिका के बीच कोल्ड वॉर चल रहा था !1960 के दशक में रूस और अमेरिका के बीच कोल्ड वॉर चल रहा था अमेरिका को डर था कि रूस उसके ऊपर परमाणु हमला न कर दें इसलिए अमेरिका एक ऐसा नेटवर्क बनाना चाहता था, जिसके द्वारा को अमेरिका के सारे कंप्यूटर को एक साथ जोड़ सकें !


सन 1962 में सीसीआर लिक लीडर ने एक संस्था बनाई ! जिसका नाम उन्होंने दी {DARPA} यानी डिफेंस एडवांस रिसर्च प्रोजेक्ट एजेंसी रखा ! इस संस्था के द्वारा उन्होंने एक नेटवर्क बनाया! जिसका नाम उन्होंने एंटीजेनिक नेटवर्क था ! जिसके द्वारा को अमेरिका के सारे कंप्यूटर को एक साथ जोड़ सकें !


इसका मकसद अमेरिकी डिफेंस सिस्टम की एक कंप्यूटर को दूसरे कंप्यूटर से जोड़ना था !ताकि उनके सीक्रेट मैसेज को एक जगह से दूसरी जगह तक तेज और गुप्त तरीके से भेजा जा सके ! 29 अक्टूबर सन 1969 को डी ए आर पी ए ने लॉस एंजिल्स में कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी के कंप्यूटर और उस से 350 किलोमीटर दूर स्टैनफोर्ड रिसर्च इंस्टीट्यूट के कंप्यूटर के बीच दुनिया का पहला इलेक्ट्रॉनिक संदेश और एल या ओ को भेजा ! जिससे स्टैनफोर्ड  रिसर्च इंस्टिट्यूट का कंप्यूटर क्रैश हो गया था ! वह लॉगिन भेजने का प्रयास कर रहे थे !लेकिन हेलो भेजने के दौरान ही उनका सिस्टम कैसे हो गया !लेकिन बाद में इसमें कुछ सुधार करने के बाद वह इसे भेजने में सफल हो गया !



इंटरनेट का आविष्कारक  :


फिर सन 1974 में दर्पा [DARPA] के मुख्य सदस्य विंडरसन और रॉबर्ट कोर्न ने दो कंप्यूटर को आपस में जोड़ने के लिए टीसीपी यानी ट्रांसमिशन कंट्रोल प्रोटोकोल डिजाइन किया ! और इंटीग्रेटिंग नेटवर्क का नाम बदलकर इंटरनेट रख दिया !विंडरसन और रॉबर्ट कोर्न को फादर ऑफ इंटरनेट भी कहा जाता है ! यानी इन्हें इंटरनेट का आविष्कारक भी माना जाता है !


सन 1980 में माइक्रोसॉफ्ट के फाउंडर बिल गेट्स ने अपनी आई बी एम कंप्यूटर्स बनाएं ! अपने माइक्रोसॉफ्ट ऑपरेटिंग सिस्टम में सबसे पहले इंटरनेट की सुविधा लगाई ! 1 जनवरी 1983 में डी ए आर पी ए  के चीफ मेंबर विंडरसन और रोबोट कौन ने डी ए आर पी ए का नाम बदल कर अरपानेट रख दिया ! और हर कंप्यूटर के लिए उनकी एक यूनिक आईडी बनाई,जिसे आज हम ip-address कहते हैं !इस आईपी एड्रेस से हर कंप्यूटर में इंटरनेट को एक्सेस करना आसान हो गया !


इसी साल यानी सन 1983 में पॉल मॉकपेट्रीस ने डोमेन नेम एक्सटेंशन का आविष्कार किया ! जैसे डॉटकॉम, डॉट नेट, डॉट जीओवी ! इसके बाद से वेबसाइट बनना शुरू हो गई है !नहीं तो इससे पहले किसी वेबसाइट से जाने के लिए नंबर यानी उसके आईपी एड्रेस का यूज किया जाता था ! जैसे आपको google.com पर ब्राउज़र में आपको नंबर ऐसे टाइप करना पड़ता था !


सन 1989 में विंटनसर्च और रोबोट कौन ने पहली आईएसपी यानी इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर कंपनी बनाई जिसका नाम टेलनेट रखा ! टेलनेट दुनिया की सबसे पहली इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर कंपनी थी !टेलनेट की मदद से इंटरनेट को लोगों की यूज़ के लिए दिया जान लगा !नहीं तो इससे पहले इंटरनेट का यूज सिर्फ डिफेंस और गवर्नमेंट एजेंसी ही करती थी !


सन 1990 में टीम बना ली ने कंप्यूटर के लिए एचटीएमएल यानी हाइपर टेक्स्ट मार्कअप लैंग्वेज मनाया !HTML की मदद से इंटरनेट पर ब्राउज़र और पेज बना जाने लगा ! जिसे वेब पेज कहा जाता है! इसकी मदद से इंटरनेट पर वेब साइटों को नेविगेट करना आसान हो गया !


 फिर सन 1991 में टिक बैरनर्स - ली  ने डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू यानी वर्ल्ड वाइड वेब बनाया ! जिसकी मदद से वेबसाइटों को ढूंढना आसान हो गया ! इससे पहले अगर आपको किसी वेबसाइट पर जाना होता था, तो वह वेबसाइट जिस कंप्यूटर में उस कंप्यूटर का आईपी ऐड्रेस याद होना जरूरी था !

 


गूगल का आविष्कार किसने किया था ?


सन 1992 के बाद इंटरनेट को आसानी से यूज करने के लिए मार्च में दो-तीन  बाजार में दो, तीन सर्च इंजन  आया,जैसे याहू, बिंग ! लेकिन ये सभी सफल नहीं हुए !लेकिन4 सितंबर, 1998 को दनिया का सबसे पोपुलर सर्च इंजन Google को सर्गेई ब्रिन और लैरी पेज ने बनाया !और इसने इंटरनेट की दुनिया में क्रांति ला दी ! आज यूट्यूब, फेसबुक, व्हाट्सएप, और सोशल नेटवर्किंग साइटों ने हमारी जिंदगी को बदल कर रख दिया !  और आज समय आ गया है; कि हम इंटरनेट के बिना अपने आप को अधूरा महसूस करते हैं !

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad

top below ad